व्यापार

वाणिज्‍य और उद्योग राज्‍य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण मलेशिया की यात्रा पर

अर्थव्यवस्था, देखी गयी [ 418 ] , रेटिंग :
Nitika, Star Live 24
Wednesday, July 15, 2015
पर प्रकाशित: 00:12:04 AM
टिप्पणी
वाणिज्‍य और उद्योग राज्‍य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण मलेशिया की यात्रा पर

वाणिज्‍य और उद्योग राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्रीमती निर्मला सीतारमण 12 से 14 जुलाई, 2015 तक मलेशिया की आधिकारिक यात्रा पर हैं। 

वाणिज्‍य और उद्योग राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्रीमती निर्मला सीतारमण, क्षेत्रीय व्‍यापक आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी) अंतर सत्र मंत्रीस्‍तरीय बैठकों और संबंधित बैठकों में शामिल होने के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्‍व कर रही हैं। 

इस पूर्व, आज सुबह श्रीमती सीतारमण ने अंतर सत्र मंत्रीस्‍तरीय बैठकों में भाग लिया। उन्‍होंने आरसीईपी वार्ताओं के लिए भारत की महत्‍ता पर जोर दिया और आपसी सहमति से एक स्‍वीकार्य आरसीईपी समझौते के लिए अन्‍य देशों के साथ मिलकर काम करने में भारत की वचनबद्धता को जारी रखने का भी संदेश दिया। 

माननीय मंत्री महोदया ने मलेशिया के अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार और उद्योग मंत्री श्री मुस्‍तफा मोहम्‍मद से भी मुलाकात की। दोनों मंत्रियों ने वर्तमान में जारी आरसीईपी वार्ताओं से संबंधित मुद्दों और द्विपक्षीय व्‍यापार एवं निवेश को बढ़ाने से जुड़े विषयों पर भी विचार-विमर्श किया। श्रीमती सीतारमण ने 'मेक इन इंडिया' पहल में मलेशियाई कंपनियों की व्‍यापक भागीदारी का भी स्‍वागत किया। मलेशियाई कंपनियां भारत में करीब 6 बिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश कर चुकी हैं और इसके अलावा भारत की विभिन्‍न परियोजनाओं में खासतौर पर बुनियादी ढांचे और निर्माण क्षेत्र में बड़े स्‍तर पर अमरीकी डॉलर का निवेश करेंगी। दोनों मंत्रियों ने द्विपक्षीय आर्थिक और वाणिज्‍यिक संबंधों को और अधिक ऊँचाई पर ले जाने की सहमति भी जताई। 

माननीय मंत्री महोदया के सम्‍मान में मलेशिया-भारतीय व्‍यापार परिषद के द्वारा आयोजित रात्रि भोज में करीब 100 से ज्‍यादा मलेशियाई और भारतीय कंपनियों के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी ने भाग लिया। इस भोज में मलेशिया में स्‍थित भारतीय उद्योग संघ भी शामिल हुआ। इस अवसर पर अपने संबोधन में श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत मलेशिया के साथ सामरिक साझेदारी को और मजबूत बनाने के प्रति वचनबद्ध है और इसे बहुआयामी बनाया जा सकता है। उन्‍होंने पिछले वर्ष नवंबर में दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच हुई सकारात्‍मक बैठक को भी स्‍मरण किया और उम्‍मीद जताई कि इस वर्ष भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मलेशिया दौरे से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सामरिक साझेदारी का एक नया अध्‍याय खुलेगा। उन्‍होंने उल्‍लेख किया कि दक्षिण-पूर्व एशिया के साथ भारत के आर्थिक संबंधों के मामले में मलेशिया पनप रहा है और भारत में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए सरकार द्वारा की गई विभिन्‍न नई पहलों का भी उल्‍लेख किया। उन्‍होंने भारत के विकास की कहानी में सहभागिता के लिए मलेशिया के व्‍यापारिक समुदाय को भी आमंत्रित किया। 


अन्य वीडियो






 टिप्पणी Note: By posting your comments in our website means you agree to the terms and conditions of www.StarLive24.tv


इस सेक्‍शन से अन्‍य ख़बरें


< >

1/4

अधिकतम देखे गए